1.7 C
New York
Thursday, February 22, 2024

Buy now

spot_img

बत्तख और सुनहरे अंडे | The Goose And The Golden Eggs

बत्तख और सुनहरे अंडे (The Goose And The Golden Eggs ) एक जादुई बत्तख की कहानी है जो बच्चों को बहुत पसंद आती है और उन्हें अच्छी शिक्षा भी देती है।

एक बार की बात है, घनश्याम नाम का एक गरीब किसान रहता था। एक दिन, जब वह अपने खेत की देखभाल कर रहा था, तो उसे ऊँची घास में एक सोने की बत्तख मिली। उसे देखकर वह आश्चर्य चकित रह गया वो बतख बहुत सूंदर थी गरीब किसान उस बतख को घर ले आया और उसे देखकर सब लोग बहुत अचंभित हो गए और खुश भी हुए।

किसान और उसकी पत्नी ने जब सुबह उठकर बतख को देखा तो और जयादा अचंभित हो गए क्यूंकि बतख ने अगले दिन एक सुनहरा सोने का अंडा दिया जिसे देख कर उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा।

Duck giving golden eggs
Duck giving golden eggs

अब किसान और उसकी पत्नी बहुत खुश थे क्युकी वो सुनहरी बतख उन्हें हर दिन एक सोने का अंडा देती थी और वो बेसब्री से उसका इन्तजार करते थे।

उनके धैर्य का फल मिला क्योंकि बत्तख हर दिन एक सोने का अंडा देने लगी। खुशी और नई संपत्ति से अभिभूत, घनश्याम और उसकी पत्नी ने इन कीमती अंडों को बेच दिया और जल्द ही वो दोनों अमीर बन गए और अपने गाँव की ईर्ष्या का कारण भी बन गए।

एक दिन पत्नी ने लालच में आकर किसान से कहा के यह बतख रोज सोने का अंडा देती है क्यों न हम इसके पेट में से सारे अंडे एक साथ बहार निकाल लें। इस पर किसान ने उसको मना कर दिया पर पत्नी इस बात की जिद्द करने लगती है तो किसान ना चाहते हुए भी पत्नी की बात मान लेता है।

Dreaming duck will give many golden eggs
Dreaming duck will give many golden eggs

फिर पत्नी की बात मानते हुए उसने एक दिन दुखी मन से बत्तख का पेट काट दिया लकिन वो दोनों बहुत निराश हुए क्युकि बतख के पेट में उन्हें एक भी सोने का अंडा नहीं मिला और बतख भी मर गयी

Duck cut for golden eggs found nothing
Duck cut for golden eggs found nothing

किसानअपने दुर्भाग्य पर बहुत दुखी हुआ। किसान और उसकी पत्नी महसूस करते हैं कि उनके स्वार्थ की कीमत उन्हें चुकानी पड़ी, घनश्याम और उसकी पत्नी अपनी इस गलती पर शर्मिंदा होते हैं।

Saved whatever left with regret
Saved whatever left with regret

तब से, उन्होंने जो थोड़ा सा बचा था उसे संजोया और कसम खाई कि वे फिर कभी लालच को अपने निर्णय पर हावी नहीं होने देंगे।

और कहानी पढ़ें  

भेड़िये और सारस की कहानी | Bhedia Aur Saras Ki Kahani

लालची किसान का सबक | Lalchi Kisaan New Moral Story

बच्चों के लिए सबक | Moral of the Story

बत्तख और सुनहरे अंडे (The Goose And The Golden Eggs) की कहानी हमे यह सीख देती है की हमे अत्यधिक लालची नहीं होना चाहिए जयादा लालची होना एक बिमारी है और लालच हमे और दूसरों को इतना बड़ा नुक्सान दे जाता है की उसकी भरपाई कभी-कभी नामुमकिन होती है।

यह कहानी हमे एक और सीख देती है की कभी भी हमे अपने लालच के लिए किसी भी प्राणी को मारना नहीं चाहिए।

बत्तख और सुनहरे अंडे कहानी पिक्चर में | The Goose And The Golden Eggs Story In Images

The Goose And The Golden Eggs | बतख और सुनहरे अंडे की कहानी अंग्रेजी में

The Goose and the Golden Eggs is a story of a magical duck which is very much liked by children and also gives them good education.

Once upon a time, there lived a poor farmer named Ghanshyam. One day, while he was tending his farm, he found a golden goose in the tall grass. He was surprised to see that the duck was very beautiful.

The poor farmer brought that duck home and everyone was surprised and happy after seeing it.

When the farmer and his wife woke up in the morning and saw the duck, they were even more surprised because the next day the duck laid a golden egg, seeing which their happiness knew no bounds.

Duck giving golden eggs
Duck giving golden eggs

Now the farmer and his wife were very happy because the golden duck gave them a golden egg every day and they eagerly waited for it.

Dreaming duck will give many golden eggs
Dreaming duck will give many golden eggs

His patience paid off as the duck started laying a golden egg every day. Overwhelmed with happiness and new wealth, Ghanshyam and his wife sold these precious eggs and soon both of them became rich and the envy of their village.

Then, following his wife’s advice, one day he cut the stomach of the duck with a sad heart, but both of them were very disappointed because they did not find a single golden egg in the duck’s stomach and the duck also died.

The farmer was very saddened by his misfortune. The farmer and his wife realize that their selfishness has cost them, Ghanshyam and his wife feel ashamed of their mistake.

From then on, he cherished what little he had left and vowed to never again let greed cloud his judgment.

Moral of the Story The Goose And The Golden Eggs

The story of The Goose and the Golden Eggs teaches us that we should not be too greedy. Being too greedy is a disease and greed causes so much harm to us and others that sometimes it becomes impossible to compensate.

This story teaches us another lesson that we should never kill any creature for our greed.

More stories for kids

Greedy Farmer A Moral Story

The Wolf And Crane Story

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles