27.9 C
New York
Thursday, June 20, 2024

Buy now

spot_img

लोहागढ़ किला हिंदुस्तान का एक मात्र अजय किला | Lohagarh Fort the only Invincible Fort of India

महाराजा सूरजमल जी (Maharaja Surajmal) का किला, जिसे लोहागढ़ (Lohagarh Fort the only Invincible Fort of India) के नाम से भी जाना जाता है, हिंदुस्तान का एक मात्र “अजय किला” है। यह किला भारत का एक प्रमुख पर्यटन स्थल भी है जो भरतपुर, राजस्थान, भारत में स्थित है। किले की ऊँचाई 180 फुट (लगभग 55 मीटर) है। किला अपने अभेद्य निर्माण के लिए जाना जाता है, और इसे कभी भी कोई ने जीत नहीं पाया है।

यह हिंदुस्तान का एक मात्र “अजय दुर्ग किला” है इस किले को आज तक कोई नहीं जीत पाया

Lohagarh Fort Overview
Lohagarh Fort Overview ( Google Image)

लोहागढ़ किले पर कई बार आक्रमण हुए हैं, लेकिन इसे कोई कभी भी जीत नहीं पाया है। मुगलों ने कई बार इस किले पर आक्रमण किया, लेकिन हर बार उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा। अंग्रेजों ने भी इस किले पर 13 बार आक्रमण किया, लेकिन उन्हें हर बार हार का सामना करना पड़ा साथ ही भारी नुकसान भी उठाना पड़ता था।

किले को 1765 में महाराजा सूरजमल जी ने बनवाया था। इसके प्रमुख संरचनाओं में प्रमुखता से प्रतिष्ठित हैं:

  • हरमंदिर साहेब (Harminder Sahib): हरमंदिर साहेब, जिसे स्थानीयता में “सोने का मंदिर” कहा जाता है, किले की प्रमुख संरचना है।
  • सलीम सिंह की होली (Salim Singh Ki Holi): सलीम सिंह की होली, जो प्रमुखता से “पत्थरों की होली” कहलाती है, किले में स्थित है।
  • केशोराय महल (Keshoray Mahal): केशोराय महल, जो प्रमुखता से “केशोराय की महल” कहलाती है, किले में स्थित है।

किले को ब्रिटिश सेना ने लंबे समय तक हथियाने की कोशिश की, परन्तु कोई सफलता नहीं प्राप्त कर सके.

Lohagarh Fort का इतिहास

Lohagarh Fort ( Google Image)
Lohagarh Fort ( Google Image)

महाराजा सूरजमल जी एक प्रतिष्ठित राजा थे जिन्होंने 1726 में भरतपुर राज्य की स्थापना की। उन्होंने अपने राज्य की रक्षा के लिए एक मजबूत किले का निर्माण करने का निर्णय लिया। किला बनाने के लिए उन्होंने देश भर से कुशल कारीगरों को बुलाया। किले का निर्माण 1730 में पूरा हुआ।

किले का निर्माण सूरजमल जी ने अपने राज्य की रक्षा के लिए किया था। सूरजमल जी को पता था कि मुगल और अंग्रेज उनके राज्य पर हमला कर सकते हैं। इसलिए उन्होंने एक मजबूत किले का निर्माण किया ताकि अपने राज्य की रक्षा कर सकें।

लोहागढ़ किले की वास्तुकला

Lohagarh Fort Vastukala
Lohagarh Fort Vastukala( Google Image)

लोहागढ़ किला एक विशाल किला है जो 14 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। किला चारों ओर से खाई से घिरा हुआ है, और दीवारों की ऊंचाई 30 फीट है। किले में कई बुर्ज और दरवाजे हैं। किले के अंदर कई महल, मंदिर और अन्य इमारतें हैं।

किले की दीवारें लोहे की तरह मजबूत हैं। किले की दीवारों को बनाने के लिए मिट्टी, पत्थर और लकड़ी का उपयोग किया गया। किले की दीवारों की मोटाई 10 फीट है। किले की दीवारों में कई छेद हैं, जिन्हें तोपों के लिए बनाया गया था।

किले की खाई गहरे पानी से भरी हुई है। किले की खाई की चौड़ाई 100 फीट है। किले की खाई में कई मगरमच्छ रहते हैं।

किले के अंदर कई बुर्ज और दरवाजे हैं। किले के बुर्जों का उपयोग रखवाली के लिए किया जाता था। किले के दरवाजे मजबूत हैं

Lohagarh Fort the only Invincible Fort of India | लोहागढ़ किला अभेद क्यों है

लोहागढ़ किला अपने अभेद्य निर्माण के लिए जाना जाता है क्युकी किले की दीवारें लोहे की तरह मजबूत हैं, और खाई गहरे पानी से भरी हुई है। किले में कई तोपें भी हैं जो इसे और भी अभेद बनाती हैं।

लोहागढ़ किले की दीवारें (Lohagarh Fort Walls)

लोहागढ़ किले की दीवारें लोहे की तरह मजबूत हैं। वे तोपों और अन्य हथियारों से भारी नुकसान सहन कर सकती हैं। किले की दीवारों में कई छेद हैं, जिन्हें तोपों के लिए बनाया गया था।

Lohagarh Kila
Lohagarh Kila ( Google Image)

किले की दीवारों को बनाने के लिए एक विशेष तकनीक का उपयोग किया गया था। किले की दीवारों को बनाने के लिए मिट्टी, पत्थर और लकड़ी को एक साथ मिलाया गया। फिर इस मिश्रण को सूखने के लिए छोड़ दिया गया। सूखने के बाद, किले की दीवारें लोहे की तरह मजबूत हो गईं।

लोहागढ़ किले की खाई

लोहागढ़ किले की खाई गहरे पानी से भरी हुई है। किले की खाई की चौड़ाई 100 फीट है। किले की खाई में कई मगरमच्छ रहते हैं।

किले की खाई को बनाने के लिए एक विशेष तकनीक का उपयोग किया गया था। खाई को भरने के लिए पानी का उपयोग किया गया। किले की खाई एक मजबूत रक्षा प्रणाली है। यह दुश्मनों को किले के पास पहुंचने से रोकती है।

लोहागढ़ किले की तोपें

शक्तिशाली तोपें: लोहागढ़ किले में कई शक्तिशाली तोपें हैं।। किले की तोपें दुश्मनों को दूर से नुकसान पहुंचाने में सक्षम हैं।

किले की तोपों को बनाने के लिए एक विशेष तकनीक का उपयोग किया गया था। किले की तोपों को बनाने के लिए लोहे, तांबे और अन्य धातुओं का उपयोग किया गया।

किले की तोपें एक मजबूत रक्षा प्रणाली हैं। वे दुश्मनों को किले पर हमला करने से रोकने में मदद करती हैं।

Lohagarh Fort Hiil view
Lohagarh Fort Hiil view

लोहागढ़ किले की अभेद्यता के कुछ अतिरिक्त करण निम्नलिखित हैं:

  • किले की दीवारें 30 फीट ऊंची और 10 फीट मोटी हैं।
  • किले की खाई 100 फीट चौड़ी और गहरी है।
  • किले की तोपें 300 मीटर तक की दूरी तक मार कर सकती थी ।

लोहागढ़ किले की विरासत

लोहागढ़ किला राजस्थान की एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक धरोहर है। यह किला भारतीय संस्कृति और इतिहास का एक प्रतीक है। यह किला एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल भी है।

लोहागढ़ किले के कुछ महत्वपूर्ण आकर्षण

  • सूरजगढ़: यह किले का मुख्य महल है। इसमें एक सुंदर चित्रशाला है जिसमें जाट राजाओं की तस्वीरें हैं।
  • जोधराज मंदिर: यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। यह मंदिर किले के भीतर स्थित है।
  • अशोक बुर्ज: यह किले का सबसे ऊंचा बुर्ज है। यह बुर्ज किले के ऊपर से पूरे शहर का एक शानदार दृश्य प्रस्तुत करता है।
  • गंगा बुर्ज: यह किले का एक और महत्वपूर्ण बुर्ज है। यह बुर्ज किले के प्रवेश द्वार के पास स्थित है।

पर्यटन स्थल (Travel Spot)

लोहागढ़ किला एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। किले में कई पर्यटन स्थल हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • महलों और मंदिरों का संग्रह
  • दुर्ग की दीवारें और खाई
  • तोपों का संग्रह

लोहागढ़ किला (Lohagarh Fort the only Invincible Fort of India) अभेद होने के साथ एक अद्भुत ऐतिहासिक स्थल है जो राजस्थान की समृद्ध विरासत को दर्शाता है। यह किला एक जरूर जाने लायक स्थल है जो सभी इतिहास प्रेमियों के लिए एक गौरान्वित करने वाला महान गंतव्य स्थान (Travel Spot) है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles